Hardik Pandya

अंग्रेजों पर भारी पड़ा पांड्या का पंच, टेस्ट सीरीज में जगाई पहली जीत की उम्मीद, रचा इतिहास

हार्दिक पंड्या के करियर के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के दम पर टीम इंडिया ने तीसरे टेस्ट के दूसरे दिन इंग्लैंड को पहली पारी में 161 रन पर ऑलआउट कर दिया और दूसरी पारी में दो विकेट पर 124 रन बनाकर कुल 292 रन की बढ़त ले ली।

भारत के अभी आठ विकेट बाकी है और चेतेश्वर पुजारा (33) के साथ कप्तान विराट कोहली (8) क्रीज पर हैं। भारत ने दूसरी पारी में शिखर धवन (44) और के एल राहुल (36) के विकेट गंवा दिए। इससे पहले पहली पारी में 329 रन बनाने वाली भारतीय टीम के लिये पंड्या ने करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए 28 रन देकर पांच विकेट लिए।

इंग्लैंड ने लंच के बाद दस विकेट गंवा दिए और 38.2 ओवर में पूरी टीम पवेलियन लौट गई। पंड्या ने सबसे पहले इंग्लिश टीम के कप्तान जो रूट को दूसरी स्लिप में केएल राहुल के हाथों लपकवाया। इंग्लैंड ने इस फैसले पर रिव्यू लिया, लेकिन नाकाम रहा।

अपने अगले ही ओवर में पंड्या और राहुल ने जानी बेयरस्टॉ (15) को वापिस भेजा। इंग्लैंड का स्कोर 30वें ओवर में पांच विकेट पर 108 रन था। पंड्या ने अगले तीन विकेट तीन गेंद के भीतर 31वें से 33वें ओवर के बीच लिए और इस दौरान वह हैट्रिक पर भी थे। पिछले मैच के हीरो क्रिस वोक्स (8) और आदिल रशील (5) पांड्या का शिकार बने।

पंड्या हैट्रिक पर थे जब अगले ओवर की पहली गेंद पर स्टुअर्ट ब्राड (0) को एलबीडब्ल्यू आउट किया, लेकिन जेम्स एंडरसन (नाबाद एक) ने उनकी हैट्रिक नहीं होने दी। पंड्या ने 28 गेंद में पांच विकेट लिए जो दूसरा सबसे तेज पांच विकेट लेने का कारनामा है। हरभजन सिंह ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2006 में 27 गेंद में पांच विकेट लिए थे।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*