एयर इंडिया को हुए नुकसान के ब्यौरे पर अमृतसर विकास मंच

एयर इंडिया को हुए नुकसान के ब्यौरे पर अमृतसर विकास मंच

एयर इंडिया को हुए नुकसान के ब्यौरे पर अमृतसर विकास मंच

एयर इंडिया ने घाटे की दलील देते हुए अमृतसर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से टोरंटो की फ्लाइट शुरू करने से साफ इनकार कर दिया है। हालांकि एयर इंडिया ने बताया कि 29 अक्तूबर से वह चंडीगढ़ इंटरनेशनल एयरपोर्ट से बैंकॉक की फ्लाइट शुरू करने जा रही है, जो सप्ताह में चार दिन की होगी।
मंगलवार को एयर-इंडिया के स्टेशन मैनेजेर जीएस तोमर ने हाईकोर्ट को इसकी जानकारी दी है। साथ ही अमृतसर से अन्य इंटरनेशनल फ्लाइट्स से हुए घाटे की भी एयर-इंडिया ने हाई कोर्ट को जानकारी दी है। अमृतसर से इंटरनेशनल फ्लाइट्स के कारण एयर इंडिया को हुए नुकसान के ब्यौरे पर अमृतसर विकास मंच के एडवोकेट ने कहा कि यह जानकारी बड़ी चालाकी से दी गई है। एयर-इंडिया की 59 में से 57 इंटरनेशनल फ्लाइट्स घाटे में है। ब्यौरा उन उड़ानों का दिया गया जो अमृतसर से दिल्ली होकर विदेश जाती हैं, जबकि अगर फ्लाइट दिल्ली से अमृतसर होकर विदेश जाएं तो इन्हें बड़ा फायदा हो सकता है। एयर-इंडिया का दावा है कि अमृतसर से बर्मिंघम के लिए अमृतसर से केवल 35 प्रतिशत यात्री हैं जो गलत है। असल में 35 प्रतिशत वे यात्री हैं जो बाया एयर आते हैं। पंजाब से बड़ी संख्या में लोग सड़क और रेल के जरिए दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचते हैं।

हाईकोर्ट को बताया गया कि तुर्कमेनिस्तान की एयरलाइंस इसी रूट से फायदे में है। यहां तक की इंडिगो भी फायदे में है लेकिन एयर-इंडिया घाटे में है क्योंकि दिल्ली से अमृतसर जाने की बजाय अमृतसर से दिल्ली जाती है। चाहे टोरंटो हो या बर्मिंघम दोनों ही पहले अमृतसर से दिल्ली, फिर उसके बाद पंजाब के ऊपर से ही आगे जाती हैं। अमृतसर से दिल्ली की फ्लाइट में 5 लाख का फ्यूल लग जाता है। जस्टिस एसएस सारों एवं जस्टिस अवनीश झिंगन की खंडपीठ ने इस जानकारी पर याचिकाकर्ता को पूरा डाटा उपलब्ध करवाए जाने के आदेश दिए हैं।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*