Home Chandigarh चंडीगढ़ में अब वाहन रखना होगा महंगा, इन जगहों पर ढीली करनी...

चंडीगढ़ में अब वाहन रखना होगा महंगा, इन जगहों पर ढीली करनी पड़ेगी जेब, नगर निगम का फैसला

550
0
Chandigarh

चंडीगढ़ में वाहन मालिकों को तगड़ा झटका लगने वाला है। एक दर्जन स्थानों पर मालिकों अपनी जेब ढीली करनी पड़ेगी। इसकी तैयारी नगर निगम ने शुरू कर दी है। दरअसल, मध्य मार्ग और मनीमाजरा स्थित वी-3 रोड पर शोरूमों के आगे करीब एक दर्जन पार्किंग स्थलों को पेड करने की तैयारी शुरू हो गई है। मेयर ने अधिकारियों को प्रस्ताव बनाने को कहा है।

खास बात यह है कि इन पार्किंगों में वाहन पार्क करने का शुल्क शहर के बाकी पेड पार्किंगों के मुकाबले में आधा होगा। यहां दोपहिया वाहन पार्किंग के 5 रुपये जबकि कार पार्किंग के 10 रुपये पूरे दिन के हिसाब से चार्ज किए जाएंगे। मध्य मार्ग स्थित इन पार्किंगों को पेड करने और पुराने रेट तय करने का प्रस्ताव इस माह होने वाली सदन की बैठक में आएगा।

जानकारी के मुताबिक, मेयर के पास अफसर शहर की 70 पार्किंगों को पेड करने का प्रस्ताव लेकर पहुंचे थे लेकिन मेयर ने इस प्रस्ताव को सदन में लाने की मंजूरी नहीं दी। इसमें वी-3 के अलावा वी-4 और वी-5 के बाजारों के पार्किंग स्थल भी शामिल थे लेकिन मेयर ने कहा कि सिर्फ मध्य मार्ग और मनीमाजरा के शोरूमों के आगे की पार्किंगों को ही पेड बनाने का प्रस्ताव तैयार किया जाए।

मेयर ने ज्वाइंट कमिश्नर को कहा कि प्रस्ताव में इस बात की पूरी जानकारी होनी चाहिए कि इस समय यहां पर कितने वाहन पार्क हो रहे हैं। नगर निगम ने इन पार्किंगों को पेड करने से ही 10 करोड़ रुपये की सालाना कमाई बढ़ जाएगी। इस समय मध्य मार्ग में सिर्फ सेक्टर-9 डी के हिस्से और सेक्टर-8 में ही पेड पार्किंग है जबकि नए जगह पर पार्किंग पेड होने से सेक्टर-9 के प्रेस लाइट प्वाइंट के पास, सेक्टर-7, सेक्टर-26 में वी-3 रोड के किनारे की पार्किंग पेड हो जाएगी।

आरबीआई के सामने की पार्किंग भी होगी पेड

इस समय सेक्टर-17 की आरबीआई के सामने की पार्किंग निशुल्क चल रही है। इसके साथ ही शहर की पहली मल्टीलेवल पार्किंग बनी हुई है। 6 साल पहले जब मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण शुरू किया गया था तब इसके साथ की पार्किंग को भी छोड़ दिया गया था। बाकी सेक्टर-17 की पार्किंगों को पेड कर दिया गया है लेकिन यह अभी भी निशुल्क चल रही है। नगर निगम का मानना है कि इस हिस्से को भी पेड करने से मल्टीलेवल पार्किंग में ज्यादा वाहन पार्क होंगे क्योंकि इस समय निशुल्क के चक्कर में लोग मल्टीलेवल में न जाकर यहां पर ही वाहन पार्क कर देते हैं।

पुराने रेट तय कर विरोधियों को मैसेज देना चाहते हैं मेयर

नई बनाई जाने वाली पेड पार्किंगों में पिछले साल के पुराने रेट लागू कर मेयर पार्टी में अपने विरोधी पार्षदों को मैसेज देना चाहते हैं क्योंकि इस साल एक अप्रैल से पेड पार्किंगों में पहले चार घंटे के लिए कार पार्किंग के 20 और दोपहिया वाहन के 10 रुपये का शुल्क चार्ज करने का फैसला लागू हुआ था तब मेयर ने काफी प्रयास किया कि रेट कम हो जाएं लेकिन ऐसा नहीं हो सका।

यह रेट बढ़ाने का फैसला पिछले साल तत्कालीन मेयर आशा जसवाल के समय में ही हो गया था। मेयर देवेश मोदगिल ने इस साल काफी प्रयास किया कि पेड पार्किंग चलाने वाली कंपनी से नगर निगम को मुक्ति दिलवाई जाए लेकिन कोर्ट में मामला पहुंचने के कारण ऐसा नहीं हो पाया। मेयर एमओयू के समझौते के कारण वर्तमान में बढ़े हुए रेट्स को कम नहीं करवा सके जबकि उनकी पार्टी के ही विरोधी पार्षद एमओयू का हवाल देते हुए बढ़े हुए रेट्स को कम करवाने के समर्थन में नहीं थे।

अधिकारी मेरे पास शहर में 70 पार्किंगों को पेड बनाने का प्रस्ताव सदन में लाने के लिए आए थे, जिसकी मंजूरी मैंने नहीं दी क्योंकि वी-4 और वी-5 सड़कों किनारे बनी पार्किंगों को पेड करने से रिहायशी इलाके में रहने वाले लोगों पर बोझ पड़ेगा। सिर्फ मध्य मार्ग के वी-3 और मनीमाजरा के प्रमुख मार्गों के साथ बनी पार्किंगों को पेड करने का प्रस्ताव तैयार करने को कहा गया है, लेकिन यहां पर भी पुराने पार्किंग के रेट ही तय किए जाएंगे।-देवेश मोदगिल, मेयर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*