Home India News पाकिस्तान के ‘नापाक’ मंसूबे देश के लिए बने टेंशन, जानिए क्या है...

पाकिस्तान के ‘नापाक’ मंसूबे देश के लिए बने टेंशन, जानिए क्या है दुश्मन का टारगेट?

460
0
Indian Army

पाकिस्तान के ‘नापाक’ मंसूबे भारत देश के लिए टेंशन बन गए हैं। समझ नहीं आ रहा कि क्या किया जाए, क्या नहीं। जानना चाहेंगे दुश्मन का टारगेट क्या है?

उनका टारगेट हैं जवान और अफसर, जिनकी शहादत का सिलसिला थम नहीं रहा और न ही बॉर्डर पर पाकिस्तान से घुसपैठ। पाकिस्तान का भारत में माहौल अशांत रखने का मंसूबा हो या फिर देश के युवाओं तक नशे की खेप पहुंचाने का इरादा, अपने इस काम में पाकिस्तान समर्थित आतंकी और तस्कर लगातार जुटे हुए हैं। आतंकियों भारत में दाखिल करवाने के लिए पाक रेंजर्स और पाक सेना भी लगातार सीमाओं पर फायरिंग और गोलाबारी का माहौल बनाकर रखते हैं।

ताकि भारतीय सेना और सीमा सुरक्षा बलों के जवानों का ध्यान बंटे और घुसपैठिए आसानी से सरहद पार करने में कामयाब हो जाएं। लेकिन पाक बार्डर पर तैनात बीएसएफ के जवान और अफसर भी पाकिस्तान की इस करतूत को लगातार जवाब देने में शिद्दत से जुटे हुए हैं। नतीजतन पिछले तीन सालों में बीएसएफ ने न केवल 36 घुसपैठियों को ढेर किया, बल्कि 677 पकड़े को सरहद पार करते हुए पकड़ा।

पंजाब, राजस्थान, गुजरात बार्डर से भी हो रही घुसपैठ

घाटी से लेकर गुजरात तक 2948 किलोमीटर लंबे पाकिस्तान बार्डर पर बीएसएफ तैनात है। इसमें एलओसी का 285 किलोमीटर और पंजाब, राजस्थान व गुजरात का 2663 किलोमीटर का एरिया शामिल है। घाटी ही नहीं पंजाब, राजस्थान, गुजरात के पाक बार्डर से भी देश में लगातार घुसपैठ हो रही है।

किस साल में कितने घुसपैठिये मार गिराए गए

इन इलाकों से वर्ष 2015 में पाक सरहद पार करते बीएसएफ ने 8 लोगों को मार गिराया, जबकि 187 लोगों को गिरफ्तार भी किया। वर्ष 2016 में भी 17 घुसपैठियों को बीएसएफ ने ढेर किया, जबकि 266 लोगों को गिरफ्तार किया गया। जबकि वर्ष 2017 में भी बीएसएफ ने 9 घुसपैठियों को शूट किया, जबकि 224 लोगों को काबू किया गया। जिसके चलते बीएसएफ ने सीमाओं पर अलर्ट जारी किया हुआ है।

और तेज होगी बीएसएफ, सेना की कार्रवाई

देश की सीमाओं पर तैनात बीएसएफ की घुसपैठियों और तस्करों के खिलाफ कार्रवाई और तेज की जाएगी। बीएसएफ के एक आला अफसर ने बताया कि जिस तरह से पाकिस्तान बार-बार सीजफायर का उल्लंघन कर जवानों और अफसरों को निशाना बना रहा है, वे बड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*