लेकिन मर्यादा और कानून की सीमाओं में रहकर रक्षकों को काम करना चाहिए

लेकिन मर्यादा और कानून की सीमाओं में रहकर रक्षकों को काम करना चाहिए

लेकिन मर्यादा और कानून की सीमाओं में रहकर रक्षकों को काम करना चाहिए

हरियाणा में भी मनोहर सरकार गौ रक्षकों को किसी सूरत में खुले तौर पर तांडव की छूट नहीं देगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने ये स्पष्ट कर दिया है। उन्होंने कहा कि गौ रक्षकों को प्रदेश में पहचान पत्र देने की प्रक्रिया भले अंतिम चरण में हो, लेकिन उन्हें कानून व्यवस्था हाथ में लेने नहीं दी जाएगी।
पहचान पत्र जो भी विभाग जारी करे, सुरक्षा व्यवस्था पहली प्राथमिकता रहेगी। सीएम यहां विधानसभा के बाहर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गौ रक्षा अच्छी बात है, लेकिन मर्यादा और कानून की सीमाओं में रहकर रक्षकों को काम करना चाहिए। इस पर संसदीय कार्य मंत्री रामबिलास शर्मा ने कहा कि हरियाणा गौ पालकों की धरती है। गौर रक्षक कानून को न तोड़ें।

राज्य मंत्री नायब सैणी ने कहा कि कानून सबके लिए बराबर है। गौ रक्षकों को कानून हाथ में लेकर उपद्रव नहीं मचाना चाहिए। पहचान पत्र उन्हीं को दिए जाएंगे जो वास्तव में गौ रक्षक होंगे। ये आधार के साथ लिंक भी रहेंगे।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*