सीधे-भर्ती-करवाने-के-नाम-पर-सात-लाख-रुपये-ठगने-का-मामला-सामने-आया

सीधे भर्ती करवाने के नाम पर सात लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया

सीधे भर्ती करवाने के नाम पर सात लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया

कांग्रेस के वाइस प्रेसिडेंट राहुल गांधी के फर्जी पीए बनकर लोगों को ठगने वाले परमिंदर सिंह तूर की ठगियों का सिलसिला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। अब एक युवक को पुलिस इंस्पेक्टर के पद पर सीधे भर्ती करवाने के नाम पर सात लाख रुपये ठगने का मामला सामने आया है। इस संबंध में अबोहर निवासी साजनदीप की शिकायत पर मटौर थाना पुलिस ने परमिंदर सिंह तूर व उसके साथी आदिसच सेखों के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया है। पुलिस का कहना है कि तूर को जल्द ही प्रोडक्शन वारंट पर लाया जाएगा। जबकि दूसरे आरोपी की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है।
पुलिस को दी शिकायत में साजनदीप सिंह ने बताया कि उसने बीटेक की पढ़ाई कर रखी है। साथ ही वह नौकरी की तलाश कर रहा था। इस बीच पंजाब पुलिस में कांस्टेबल पद के लिए भर्ती निकली थी। इसमें उसने भी आवेदन कर दिया था। वह भर्ती के लिए तैयारी कर रहा था। इस बीच उसके दोस्त आदिसच सेखों ने कहा कि उसका एक जानकार राहुल गांधी का पीए है। साथ ही वह तुम्हें कहीं बढ़िया सरकारी नौकरी लगवा देगा। इसके बाद तूर से मिलाने के लिए वह उसे जीरकपुर ले गया। जीरकपुर के एक नामी होटल में तूर से उसकी मुलाकात हुई।

इस दौरान तूर को उसने बताया कि पंजाब पुलिस में कांस्टेबल पद की भर्ती के लिए आवेदन किया है। इस दौरान तूर ने कहा कि तुम्हें कांस्टेबल नहीं, बल्कि पंजाब पुलिस में सीधे इंस्पेक्टर बनाया जाएगा। उसके पुलिस अधिकारियों के साथ अच्छे संबंध हैं। ऐसे में उसे कांस्टेबल की भर्ती प्रक्रिया में धक्के खाने की जरूरत नहीं है। इसके बाद उसने कहा कि नौकरी हासिल करने के लिए उसे सात लाख खर्च करने पड़ेंगे। उसकी बातों पर विश्वास हो गया

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*