हरियाणा-विधानसभा-में-ओल्ड-कमेटी-रूम-में-मतदान-केंद्र-बनाया-गया

हरियाणा विधानसभा में ओल्ड कमेटी रूम में मतदान केंद्र बनाया गया

हरियाणा विधानसभा में ओल्ड कमेटी रूम में मतदान केंद्र बनाया गया

हरियाणा व पंजाब विधानसभा में राष्ट्रपति चुनाव के लिए पुख्ता व्यवस्था की गई है। सुबह 10 से शाम पांच बजे तक मतदान प्रक्रिया चलेगी। दोनों विधानसभा में विधायकों के मतदान के लिए पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं। वोट डालने के लिए विशेष पैन विधायकों को विधानसभा में निर्वाचन आयोग की ओर से ही मुहैया कराया जाएगा।
कोई भी विधायक अपने पैन से मतदान नहीं कर सकेगा। ऐसा करने पर वोट अवैध माना जाएगा, चूंकि हरियाणा के राज्यसभा चुनाव में स्याही विवाद के बाद केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने राष्ट्रपति चुनाव में पहली बार विशेष पैन से मतदान की व्यवस्था की है। पंजाब के 117 विधायक व हरियाणा के 90 विधायक मतदान करेंगे।

हरियाणा विधानसभा में ओल्ड कमेटी रूम में मतदान केंद्र बनाया गया है। राष्ट्रपति चुनाव के लिए सहायक चुनाव अधिकारी पंकज अग्रवाल ने बताया कि निष्पक्ष, स्वतंत्र और शांतिपूर्ण चुनाव की सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। केंद्रीय चुनाव आयोग की ओर से नियुक्त पर्यवेक्षक आईएएस अधिकारी अनिल संत ने मतदान प्रक्रिया की तैयारियां का जायजा लिया है।

केंद्रीय चुनाव आयोग के प्रधान सचिव अनुज जयपुरियार को भी मतदान की देखरेख के लिए विशेष तौर पर नियुक्त किया गया है। वे सोमवार को मौजूद रहेंगे। मतदान केंद्र पर विधायक, अधिकारी और मीडिया के लोग मोबाइल फोन नहीं ले जा सकेंगे। मीडिया को मतदान की वीडियोग्राफी की इजाजत नहीं होगी। फोटोग्राफर के लिए फोटो खींचने को स्थान चिन्हित किया गया है, उससे आगे वे नहीं जा सकेंगे।

विधायकों का गणित
हरियाणा विधानसभा में भाजपा के 47, इनेलो 19, कांग्रेस 17, आजाद 5, अकाली दल एक और बसपा के एक विधायक शामिल हैं। पंजाब विधानसभा में कांग्रेस के 77, शिअद के 15, आप 20, भाजपा 3 और लोक इंसाफ पार्टी के 2 विधायक शामिल हैं। हरियाणा के विधायकों की वोट की वैल्यू 112 और पंजाब के विधायकों की वोट वैल्यू 116 है। 1971 की आबादी के तहत इसे निर्धारित किया गया है।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*