Home Cricket INDvSA: टीम इंडिया की हार के बाद कोहली बोले, इस जगह हो...

INDvSA: टीम इंडिया की हार के बाद कोहली बोले, इस जगह हो गई हमसे चूक

325
0
India Vs South Africa 2nd T20I

दक्षिण अफ्रीका ने विकेटकीपर बल्लेबाज हेनरिच क्लासेन (69) और कप्तान जेपी डुमिनी (58) की बेहतरीन पारी की बदौलत टीम इंडिया को तीन टी-20 मैचों की सीरीज के दूसरा मुकाबले में 6 विकेट से करारी शिकस्त दी। इसके साथ ही दक्षिण अफ्रीका ने सीरीज में वापसी कर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से हेनरिज क्लासेन को मैन ऑफ द मैच दिया गया। यह उनके टी-20 इंटरनेशनल करियर का पहला अर्धशतक था। वहीं, सीरीज का आखिरी व अंतिम मुकाबला 24 फरवरी को केपटाउन में खेला जाएगा।

गौरतलब है कि टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने निर्धारित 20 ओवर में दक्षिण अफ्रीका को 189 रन का लक्ष्य दिया। लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की टीम ने 18.4 ओवरों में ही 189 रन बनाकर मैच जीत लिया। टीम इंडिया की तरफ से जयदेव उनादकट ने 2 विकेट झटके।

आइये जानते हैं कि मैच जीतने के बाद दोनों टीमों के कप्तानों ने क्या कहाः-

जेपी डुमिनी

मैच जीतने के बाद दक्षिण अप्रीका के कप्तान डुमिनी ने कहा, ‘टॉस जीतकर हमने गेंदबाजी करने का फैसला लिया। सीरीज का आखिरी व अंतिम मुकाबला केपटाउन के न्यूलैंड्स में खेला जाना है। शुरुआती विकेट गिर जाने के बाद हमने बल्ले से अपना संयम बरकरार रखा। मैंने सोचा था कि क्लासेन आए और आजादी के साथ बल्लेबाजी करे। हमने अपने रन रेट को बढाए रखा। हमारी पारी में भी इसी तरह बारिश हो रही थी, लेकिन जब हमारा रन रेट आगे था तब हम थोड़ा हल्का महसूस कर रहे थे। वास्तव में हमारे लिए पहला ओवर मेडन था लेकिन उसके बाद हमने जल्द ही तीन विकेट हासिल करने में सफल रहे। हमारे सामने 189 रन का लक्ष्य था और हम इसको हासिल करने में सफल हुए। अगला मैच खेलना अच्छा होगा कि वह मेरा होम ग्राउंड है और उम्मीद है कि हम यहां अच्छा करेंगे।’

विरोट कोहली

मैच हारने के बाद कप्तान विराट कोहली ने कहा, गेंदबाजों के लिहाज यह मैच थोड़ा कठिन था। क्योंकि उन्होंने ज्यादा रन दे दिए। हम शुरुआती विकेटों के नुकसान के साथ 175 पर थे। मनीष और रैना ने अच्छी बल्लेबाजी की और फिर मनीष और एमएस ने हमें 190 रन के स्कोर पर पहुंचाया। मैंने सोचा कि यह स्कोर जीत के लिए ठीक था, लेकिन मौसम के कारण गेंदबाजों को थोड़ी कठिनाई हुई। 12वें ओवर तक यह ठीक था, लेकिन बूंदा बांदी ने इसे खराब कर दिया। दक्षिण अफ्रीका ने जोखिम उठाया, उन्हें श्रेय दिया जाना चाहिए। हमारे पास वास्तव में परिस्थितियों के हिसाब से समस्या नहीं थी, गति धीमी था लेकिन खेलने के लिए ठीक था। वे वाकई आज जीतने के हकदार हैं।’

हेनरिच क्लासेन
मैन ऑफ द मैच मिलने के बाद क्लासेन ने कहा, ‘मेरे होम ग्राउंड पर यह मेरे लिए बेहद ही खास था। यह मेरे लिए कुछ ऐसा था जो मैंने एक बच्चे के रूप में सपने में देखा था। विकेटकीपर की बात नहीं, आप गेंदबाज को दबाव में डाल सकते हैं और उन्हें अपने कौशल दिखा सकते हैं। मैं पिछले एक-डेढ़ साल से अपने क्रिकेट से प्रसन्न हूं।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*