Needy People Boxes Made Dustbins

गरीब व जरूरतमंदों के लिए सामान डोनेट करने वाले डिब्बे बने डस्टबिन

सैक्टर-76 स्थित डी.सी. काम्पलैक्स में कुछ समय पहले दान पात्र के रूप में डिप्टी कमिश्नर गुरप्रीत कौर सपरा की अगुवाई में कुछ डिब्बे रखे गए थे। इन डिब्बों को रखने का मकसद था कि गरीबों तथा जरूरतमंदों की सहायता की जा सके और लोग अपने घरों में से कपड़े तथा अपने बच्चों की पुरानी पुस्तकें व खिलौने आदि लाकर डाल सकें।

डिब्बों के पास लगाा फ्लैक्स बोर्ड

इन डिब्बों के नजदीक एक फ्लैक्स बोर्ड भी लगाया गया है जिस पर लिखा गया है ‘दान किए जाने वाला सामान तथा कपड़े साफ करके तथा प्रैस करवाने उपरांत ही लिफाफे में डाल कर डिब्बे में रखें जी।’ यहां पर पांच डिब्बे रखे हुए हैं जिनमें से एक डिब्बे में बच्चों के लिए खिलौने, एक डिब्बे में पुस्तकें, एक में बच्चों के लिए कपड़े तथा एक डिब्बे में भी बड़ी उम्र के जरूरतमंद लोगों के लिए कपड़े डालने के स्टिक्कर लगाए हुए हैं।

डिप्टी कमिश्नर द्वारा भले ही बड़ी नम्रता के साथ लोगों को अपील भी की गई थी कि जिन गरीब एवं जरूरतमंद लोगों की सहायता के लिए ये डिब्बे लगाए हैं, वे जरूरतमंद हैं और गैरतमंद भी हैं। उसके बावजूद भी कुछ शरारती व घटिया सोच के लोग इन दान पात्रनुमा डिब्बों में कोल्ड ड्रिंक्स की खाली बोतलें, चाय व कौफी वाली खाली कप तथा अनय कूड़ा कर्कट फैंक रहे हैं। ऐसा करने से ये दानपात्रनुमा डिब्बे अब डस्टबिनों का रूप धारण कर चुके हैं।

एक डिब्बा ए.टी.एम. कैबिन में रखा

हैरानी की बात ये है कि इन्हीं दान पात्रनुमा डिब्बों में से एक डिब्बा कांप्लैक्स में स्थित बैंक के ए.टी.एम. की रद्दी पर्चियां फैंकने के लिए लगा लिया गया है। ए.टी.एम. के नजदीक टायलैट्स की ओर से यह डिब्बा हर समय ए.टी.एम. की पर्चियों से भरा पड़ा रहता है।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*