Home Chandigarh देखिए इस शख्स ने मारी थी परमीश वर्मा को गोली, फिल्मी है...

देखिए इस शख्स ने मारी थी परमीश वर्मा को गोली, फिल्मी है गैंगस्टर बनने की कहानी

442
0
Parmish Verma

सिंगर परमीश वर्मा को गोली मारने वाला शख्स हत्थे चढ़ा, देखकर खून खौल जाएगा। वहीं इसके गैंगस्टर बनने की कहानी भी काफी फिल्मी है।

शनिवार रात को पंजाबी अभिनेता और गायक परमीश वर्मा पर जानलेवा हमला करने के आरोपी को पंजाब पुलिस ने बद्दी से गिरफ्तार कर लिया। आरोपी हरविंदर सिंह उर्फ हैप्पी बद्दी का ही रहने वाला है, जिसे मोहाली से आई पुलिस टीम ने रविवार तड़के चार बजे दबोचा। पुलिस आरोपी को अपने साथ ले आई है और इस मामले में पूछताछ की जा रही है। बताया जा रहा है कि हरविंदर गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह की गैंग का ही सदस्य है।

परमीश वर्मा पर शुक्रवार देर रात मोहाली के सेक्टर-91 में गोली चलाई गई थी। उन्हें घायल हालत में मोहाली के एक निजी अस्पताल में भर्ती किया गया था। वहीं, गैंगस्टर दिलप्रीत सिंह ने इस हमले की जिम्मेदारी ली थी और सोशल मीडिया पर पोस्ट कर परमीश को फिर से जान से मारने की धमकी दी थी। हमले के बाद दिलप्रीत सिंह ने सोशल मीडिया पर रिवॉल्वर के साथ एक फोटो शेयर कर हमले की जिम्मेदारी ली थी।

गैंगस्टर ने धमकी देकर कहा था कि परमीश इस बार तो बच गया, लेकिन आने वाले वक्त में वह नहीं बच पाएगा। एसपी रानी बिंदु सचदेवा ने गिरफ्तारी की पुष्टि की है। पुलिस को भरोसा है कि अब जल्द ही अन्य हमलावर तो गिरफ्त में होंगे ही साथ ही हमला करने के पीछे का कारण भी सामने आ जाएगा। एसएसपी कुलदीप सिंह चहल ने दावा किया है कि हमलावरों पर शिकंजा कस दिया गया है। वे जल्द ही सलाखों में होंगे।

उधर, पुलिस को संदेह है कि गैंगस्टर दिलप्रीत वारदात को अंजाम देने के बाद हिमाचल में छिपने की तैयारी में था। इसलिए उसने हैप्पी से संपर्क किया था। पता चला है कि हरविंदर सिंह हैप्पी एलएलबी की पढ़ाई कर रहा है। उसने चंडीगढ़ से शिक्षा हासिल की है। उसके पिता स्कूल टीचर हैं। वही बद्दी पुलिस हैप्पी का रिकॉर्ड चेक कर रही है। वहीं, फोर्टिस अस्पताल में भर्ती परमीश वर्मा और उनके दोस्त कुलवंत की हालत में सुधार है।

हरविंद्र सिंह हैप्पी गोरक्षा दल का पदाधिकारी है। उसे कुछ माह पूर्व ही इस पद के लिए चुना गया था। हरविंद्र सिंह के दून भाजपा के कई नेताओं के साथ करीबी रिश्ते भी बताए जाते हैं। भाजपा के कई कार्यक्रमों में सार्वजनिक रूप से हैप्पी शामिल होता रहा है। जिसके चलते भाजपा की सिफारिश पर ही हरविंद्र को गोरक्षा दल का जिला पदाधिकारी बनाया गया था। मोहाली पुलिस ने परमीश गोलीकांड के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया है।

वहीं, फिरौती मामले में मानपुरा से एक उद्योगपति को भी मुल्लांपुर पुलिस जांच के लिए साथ ले गई है। हालांकि स्थानीय पुलिस ने इसकी जानकारी होने से इनकार किया है। सूत्रों ने बताया कि एक स्थानीय उद्यमी से दिलप्रीत सिंह गैंग ने 10 लाख की फिरौती मांगी थी और न देने पर गोली मारने की धमकी दी थी। स्थानीय उद्यमी ने इस गैंग को 5 लाख रुपये भी दिए हैं। इसकी भनक पंजाब पुलिस को लगी है।

इसी मामले में स्थानीय उद्यमी को भी जांच के लिए पंजाब पुलिस अपने साथ ले गई है। हालांकि स्थानी पुलिस ने उद्यमी को हिरासत में लेने संबंधी जानकारी होने से इनकार कर दिया है। इस उद्यमी से फिरौती के पीछे कहीं हरविंद्र के तार तो नहीं जुड़े पंजाब पुलिस की जांच में इसका खुलासा हो सकता है। हरविंद्र स्थानीय उद्यमी को अच्छी तरह से जानता था। जिसके चलते इस फिरौती कांड में भी हरविंद्र का हाथ हो सकता है।

फिरौती देने की जांच को पूरा करने के लिए पंजाब पुलिस की एक टीम मुल्लांपुर पुलिस थाने में स्थानीय उद्यमी से कड़ी पूछताछ कर रही है। हालांकि परमीश गोली कांड और फिरौती कांड में अब तक पंजाब पुलिस कुछ बोलने को तैयार नहीं है। एसपी बद्दी रानी बिंदु सचदेवा ने बताया कि पंजाब पुलिस ने बद्दी के गुल्लरवाला से परमीश गोली कांड के एक आरोपी को गिरफ्तार किया है। मामला संवेदनशील था। गिरफ्तारी के बाद आरोपी को मोहाली ले जाया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*