भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि वित्त एवं अनुबंध कमेटी

भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि वित्त एवं अनुबंध कमेटी

भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि वित्त एवं अनुबंध कमेटी

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने कहा कि वित्त एवं अनुबंध कमेटी के चुनाव में क्रास वोटिंग कर अपने ही उम्मीदवार हीरा नेगी को हरवाने में दो पार्षदों ने साजिश की थी। पार्टी ने उनकी पहचान कर ली है लेकिन भाजपा उन पर सार्वजनिक तौर पर कोई कार्रवाई नहीं करेगी। पार्टी के रिकार्ड में इन पार्षदों का नाम दर्ज हो गया है। समय आने पर इन पार्षदों को महत्वपूर्ण पद नहीं दिया जाएगा।
गौरतलब है कि जनवरी माह में नगर निगम चुनाव में भाजपा को 21 सीटें मिली थीं। लेकिन चुनाव जीतने के 12 दिन बाद ही भाजपा वित्त एवं अनुबंध कमेटी के चुनाव में अपने उम्मीदवार हीरा नेगी के लिए छह वोट नहीं जुटा पाई। भाजपा में क्रासिंग वोट होने से कांग्रेस उम्मीदवार देवेंद्र सिंह बबला छह वोट हासिल करने में कामयाब रहे थे जबकि कांग्रेस के सिर्फ 4 ही पार्षद हैं।

भाजपा में क्रास वोटिंग होने पर पार्टी प्रभारी रामलाल के निर्देश पर भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने जांच करवाई थी। पार्टी महासचिव चंद्रशेखर ने जांच की थी। टंडन का कहना है कि पार्टी को पता चल गया है कि कौन से दो पार्षदों ने क्रास वोटिंग की थी। जिसने भी पार्टी के निर्णय के खिलाफ कुछ भी हुआ है उसे नुकसान तो झेलना ही पड़ा है।

दावा – चंडीगढ़ को बना दिया कांग्रेस मुक्त
पंचायत और जिला परिषद के चेयरमैन और वाइस चेयरमैन चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने सेक्टर-18 में पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि चंडीगढ़ को कांग्रेस मुक्त बना दिया गया है। उन्होंने बताया कि साढ़े सात साल पहले जब उन्हें अध्यक्ष पद की जिम्मेवारी सौंपी गई थी तो उस समय पार्टी का किसी भी लोकतांत्रिक संस्थान पर कब्जा नहीं थ। लेकिन इस समय नगर निगम, सांसद, मार्केट कमेटी से लेकर जिला परिषद में भाजपा काबिज है। आने वाले लोकसभा चुनाव में पार्टी उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ने के सवाल पर टंडन ने कहा कि पार्टी जो निर्णय करेगी वह उसका सम्मान करेंगे।

उन्होंने कहा कि सांसद किरण खेर शहर में अच्छा काम कर रही है और पार्टी की ओर से जो उन्हें मदद चाहिए होती है उन्हें पूरा सहयोग मिलता है। इस अनौपचारिक बातचीत में टंडन ने कहा कि शहर में मेयर इन काउंसिल का गठन होना चाहिए। इसके साथ उन्होंने पिछले दिनों मेयर के खिलाफ मामला दर्ज होने पर कहा कि अफसरशाही हावी होने के कारण ऐसा हुआ। बिना जांच किए मामला दर्ज कर दिया गया हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि दाल मेें कुछ काला भी है। इस दौरान भाजपा अध्यक्ष संजय टंडन ने अपनी कार्यकाल की उपलब्धियों को भी बताया।

डेढ़ साल से एक्सटेंशन पर
पार्टी अध्यक्ष संजय टंडन का कार्यकाल पूरा हो चुका है। जबकि कार्यकाल पूरा होने के बाद भी वह डेढ़ साल से एक्सटेंशन पर चल रहे हैं। पार्टी संविधान के अनुसार कोई भी दो कार्यकाल के समय से ज्यादा अध्यक्ष नहीं रह सकता है। अध्यक्ष संजय टंडन केंद्रीय नेतृत्व को कह चुके हैं उन्हें हटा दिया जाए लेकिन उन्हें हटाया नहीं जा रहा है। इसका कारण यह भी है कि पार्टी को टंडन के मुकाबले का कोई नेता ऐसा नहीं मिल रहा है जिसे अध्यक्ष बनाया जा सके।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*