Virat Kohli

विराट कोहली ने बनाया मास्टरप्लान, लॉर्ड्स टेस्ट के लिए टीम में दे सकते हैं इस खिलाड़ी को मौका

कप्तान विराट कोहली ने टीम इंडिया के फैंस से अपील की है कि वह टीम के खराब बल्लेबाजी प्रदर्शन को लेकर अनुमान न लगाएं, क्योंकि अभी सिर्फ एक टेस्ट हुआ है और बल्लेबाजों को तकनीक से अधिक मानसिक समायोजन की जरूरत है। टीम इंडिया को इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में 31 रन की शिकस्त झेलनी पड़ी और कप्तान कोहली को छोड़कर कोई बल्लेबाज पूरे मैच में अर्धशतक तक नहीं जमा सका।

कोहली ने लॉर्ड्स टेस्ट की पूर्व संध्या पर कहा, ‘हम इतनी जल्दी अनुमान लगाकर नतीजे पर नहीं पहुंचते हैं। एक टीम के रूप में हम धैर्य रखते हैं। हम इतनी जल्दी अनुमान नहीं लगाते। हम फेल होने का कोई तरीका नहीं तराशते। विकेट जल्दी गिरने की चिंता यह है कि यहां तकनीक से ज्यादा मानसिक रूप से तैयार होने की जरूरत है। यह योजना स्पष्ट रखना होगी कि पहली 20-30 गेंदें कैसे खेलना है। इसमें आक्रमकता को शामिल करने की जरूरत नहीं है। हमें वहां आक्रमकता के बजाय धैर्य रखने की जरूरत है। बल्लेबाजी इकाई के रूप में हम इस बारे में विचार कर चुके हैं।’

कोहली ने कहा कि टीम की धारणा यह होती है कि वह इसका विश्लेषण नहीं करते कि कोई हार कितनी खराब लगी बल्कि उनका ध्यान इस पर होता है कि अगले मैच को जीतकर अंतर कम करें। 29 वर्षीय ने कहा, ‘बाहर से देखने पर हार बहुत बुरी लगती है। विशेषकर टेस्ट क्रिकेट में और जब आप इंग्लैंड में खेल रहे हो, जहां किसी भी स्थिति में खेलना आसान नहीं। मगर हमें अपनी खामी को सुधारना है और इसके अधिक हमें किसी चीज की चिंता करने की जरूरत नहीं है।’ विराट की कप्तानी पर भी सवाल खड़े हो रहे थे, लेकिन कप्तान ने खुद का बचाव करते हुए बताया कि वह अपना सर्वश्रेष्ठ कर रहे हैं।

कोहली ने कहा, ‘मैं अपना काम कर रहा हूं और मुझे प्रबंधन से लगातार प्रतिक्रिया मिलती है। लोगों का अपना अलग नजरिया है और उनके अपने आइडियाज हैं। जब कप्तानी की बात आती है तो भी सबकी अपनी अलग सोच होती है। मगर मेरा मानना है कि मेरे अपने सभी खिलाड़ियों के साथ संवाद अच्छा है।’ कोहली ने संकेत दिया है कि अगर पिच सूखी रही तो एक अतिरिक्त स्पिनर को शामिल कर सकते हैं।

भारतीय कप्तान ने कहा, ‘लॉर्ड्स की पिच देखने में काफी सख्त और सूखी लगी। लंदन में पिछले कुछ महीनों से काफी गर्मी है। पिच पर अच्छी घास है, जिससे विकेट जुड़ा हुआ लगता है, नहीं तो विकेट को जोड़े रखना मुश्किल होता है। टीम में दूसरे स्पिनर को शामिल करना आकर्षक विचार होगा। मगर टीम संतुलन को देखते हुए हम इस बारे में फैसला लेंगे। मगर हां दो स्पिनर्स दावेदारी में जरूर हैं।’

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*