सरकार ने 43 खड्डों की बोली करवाई

सरकार ने 43 खड्डों की बोली करवाई

सरकार ने 43 खड्डों की बोली करवाई

पंजाब सरकार की ओर से रेत खड्डों की नीलामी के लिए लगाई गई दूसरी बोली पर आम आदमी पार्टी ने सवाल उठाए हैं। पार्टी का कहना है कि पहली बोली की तरह दूसरी बोली भी सीधे तौर पर खनन माफिया को काबिज करवाने की योजना है। सरकार ने पहली बोली से सबक लेकर भी दूसरी बोली के लिए कोई सुधार नहीं किया है।
वीरवार को एक बयान में आम आदमी पार्टी के नेता व आरटीआई एक्टिविस्ट एडवोकेट दिनेश चड्ढा ने कहा कि सरकार ने 43 खड्डों की बोली करवाई है, जिनमें कुल 29 लाख टन रेत-बजरी निकलना है। यह 29 लाख टन रेत-बजरी सरकार ने 206 करोड़ रुपये में बेची है। कुल मिलाकर सरकार ने 710 रुपये प्रति टन रेत-बजरी बेची है, जिस पर 20 रुपये प्रति टन डिस्ट्रिक्ट मिनरल फांउडेशन फंड, 60 रुपये प्रति टन रायल्टी और 6 रुपये प्रति टन एनवायरनमेंट मैनेजमेंट फंड अलग से ठेकेदार को अदा करना है।

वहीं, कच्चे माल से क्रशर की ओर से रेत-बजरी तैयार करने का खर्च लगभग 125 रुपये प्रति टन आता है। इस तरह कुल मिलाकर ठेकेदार को यह रेत-बजरी 921 रुपये प्रति टन पड़ेगी। रेत-बजरी लेकर जाने वाले एक टिपर में 30 टन मैटीरियल आता है। इस तरह रेत-बजरी की टिपर से ढुलाई की कीमत लगभग 40 हजार रुपये बन जाती है। आप नेता का कहना है कि दूसरी बोली में रेत-बजरी के एक टिपर की औसतन कीमत 40 हजार रुपये से 2,64,000 रुपये तक पहुंची है। इस दाम पर रेत-बजरी बिकना संभव नहीं है। ऐसे में अपने पैसे पूरे करने और लाभ कमाने के लिए अवैध खनन का रास्ता अपनाया जाएगा।
इस तरह पड़ेगा खर्च

जिला पठानकोट की गजूजगीर खड्ड जिसमें 11 हजार टन मैटीरियल है, को बोली में प्रो न्युट्रिशियन फर्म ने 9,08,46,000 रुपये में खरीदा है। इस ठेकेदार को 60 रुपये प्रति टन रायल्टी, 20 रुपये प्रति टन डिस्ट्रिक्ट मिनरल फांउडेशन फंड, 6 रुपये प्रति टन एनवायरनमेंट मैनेजमेंट फंड और 125 रुपये प्रति टन प्रोसेसिंग का खर्च डालकर प्रति टन रेत-बजरी लगभग 8469 रुपये की पड़ेगी। मतलब ठेकेदार को रेत-बजरी का टिपर ट्रांसपोर्ट के खर्च डालकर 264091 रुपये का पड़ेगा।

जिला अमृतसर साहिब की चाहरपुर खड्ड की बोली राजीव भक्त के नाम पर 8,41,51,398 रुपये में हुई, जिसमें 44493 टन मैटीरियल है। इस तरह ठेकेदार को शहर तक पहुंच करके एक टिपर 73060 रुपये का पड़ेगा। जिला अमृतसर साहिब की 25896 टन मैटीरियल वाली बरवाला खड्ड की बोली 6,69,77,056 रुपये में हुई है। उपरोक्त खर्च डालकर इस खड्ड के ठेकेदार राजीव भक्त को एक टिपर 92500 रुपये का पड़ेगा।
इस तरह पड़ेगा खर्च

जिला फिरोजपुर की 20200 टन मैटीरियल वाली गट्टा बादशाह खड्ड की बोली 3,95,12,200 रुपये में हुई है। इस ठेकेदार को सभी खर्च डालकर एक टिपर रेत-बजरी 75010 रुपये का पड़ेगा। जिला फिरोजपुर की 7400 टन वाली कामलवाला खड्ड की बोली 3,65,11,400 रुपये में हुई है। इस तरह इस खड्ड के ठेकेदार सत्या पाल शर्मा को एक टिपर रेत-बजरी सभी खर्च डालकर 164349 रुपये में पड़ेगा।

जिला जालंधर की 30000 टन मैटीरियल वाली खड्ढ की बोली जसवीर कुमार ने 7,16,30,000 रुपये में ली है। इस ठेकेदार को सभी खर्च डालकर एक टिपर रेत-बजरी 87940 रुपये में पड़ेगा। जिला पठानकोट की 18500 टन मैटीरियल वाली अदालतगढ़ खड्ड अमित महाजन ने 9,10,91,000 रुपये में ली है। इस ठेकेदार को सभी खर्च डाल कर एक टिपर रेत-बजरी 164020 रुपये में पड़ेगी।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*