सुभाष के घर और आफिस में छापे से कुल 1.15 करोड़ रुपये अघोषित बरामद किए

सुभाष के घर और आफिस में छापे से कुल 1.15 करोड़ रुपये अघोषित बरामद किए

सुभाष के घर और आफिस में छापे से कुल 1.15 करोड़ रुपये अघोषित बरामद किए

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने बजाज फॉरेक्स मनी एक्सचेंजर के मालिक हरविंदर बजाज और रियल इस्टेट का काम करने वाले उनके भाइयों सुनील और सुभाष के घर और आफिस में छापे से कुल 1.15 करोड़ रुपये अघोषित बरामद किए हैं।
चंडीगढ़ और मोहाली स्थित कुल नौ जगहों पर हुई कार्रवाई में 90 लाख भारतीय और करीब 25 लाख की विदेशी मुद्रा बरामद हुई है। जांच एजेंसी ने बरामद करेंसी को विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम 1999 (फेमा) के तहत सीज कर जांच शुरू कर दी है।

सूत्रों के अनुसार, ईडी को बजाज फॉरेक्स मनी एक्सचेंजर के यहां अवैध रूप से करेंसी बदलवाने और हवाला की शिकायत मिली थी। जांच के बाद ईडी की अलग-अलग नौ टीमों ने वीरवार को हरविंदर बजाज के सेक्टर-35 स्थित घर, मोहाली फेज-7 स्थित आफिस समेत उनके दोनों भाइयों सुनील और सुभाष बजाज के घर और आफिस में रेड की। सुनील और सुभाष रियल इस्टेट का काम करते हैं। ईडी की कार्रवाई देर रात तक चली। सूत्रों के अनुसार, हरविंदर बजाज के यहां हवाला के जरिए लेन-देन का शक था, लेकिन जांच पड़ताल के दौरान कुछ नहीं मिला। वहीं ईडी को सुनील और सुभाष बजाज के कार्यालय में कई तरह की धांधली मिली है। सूत्रों के अनुसार, ईडी ने जितना भी पैसा सीज किया है उनमें से अधिकतर सुभाष और सुनील के यहां था। फिलहाल ईडी इसकी मनी लांड्रिंग के नजरिये से भी जांच कर रही है।

पिछले महीने छाबड़ा मनी एक्सचेंजर के यहां से सीज किए थे 95 लाख
22 जून को ईडी ने पंचकूला निवासी और सेक्टर-22 स्थित छाबड़ा फॉरेक्स प्राइवेट लिमिटेड के यहां रेड की थी। ईडी को छाबड़ा के पंचकूला स्थित घर से 95 लाख की करेंसी बरामद हुई थी। इसमें 85 लाख विदेशी और 9.5 लाख रुपये भारतीय करेंसी शामिल है।

जांच एजेंसी ने बरामद करेंसी को फेमा के तहत सीज कर जसबीर छाबड़ा और उनके पुत्र गुरमीत छाबड़ा के खिलाफ जांच शुरू कर दी थी। ईडी को सूचना मिली थी कि छाबड़ा पंचकूला स्थित घर पर अवैध तरीके से विदेशी मुद्रा खरीदते थे। इनके पास पंजाब और जम्मू-कश्मीर के यहां सक्रिय रैकेट के लोग आते थे। इनसे अवैध तरीके से विदेशी मुद्रा की लेन-देन करते थे।

Rate this post

Leave a Comment

Your email address will not be published.

*