Home Cricket Yuvraj Singh Speak Up On His Retirement From International Cricket

Yuvraj Singh Speak Up On His Retirement From International Cricket

296
0
Yuvraj Singh

इंडियन टी-20 लीग के पहले ही मुकाबले में तीन बार की चैंपियन मुंबई को दिल्ली ने 37 रन से मात दी। मुंबई बेशक यह मुकाबला हार गई, लेकिन फ्रेंचाइजी के साथ जुड़े अनुभवी ऑलराउंडर युवराज सिंह ने एक बार फिर बता दिया कि उनके बल्ले में अभी भी कितनी जान बाकी है। इस मैच में युवराज ने 35 गेंदो में 5 चौके और 3 छक्के की मदद से 53 रन की अर्धशतकीय पारी खेली।

वर्ल्ड कप से पहले युवराज का ऐसा अवतार देखने के बाद एक बार फिर उनके संन्यास पर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। मैच के बाद युवराज सिंह से जब उनके संन्यास के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बेहद दिलचस्प अंदाज में जवाब देते हुए कहा, ‘जिस दिन मुझे इस बात का अंदाजा हो जाएगा कि मैं नहीं खेल सकता उस दिन मैं खुद संन्यास ले लूंगा।’

पिछले साल दिल्ली की तरफ से ही खेलने वाले 37 वर्षीय ऑलराउंडर ने कहा, ‘मैं आज भी क्रिकेट को ठीक वैसे एंजॉय कर रहा हूं जैसे कभी अंडर-16 के लिए खेलते हुए किया करता था। मुझे इस खेल से प्यार है इसलिए मैं खेलता हूं। जब तक मुझे खेलने में आनंद आता रहेगा मैं तब तक खेलूंगा। उस वक्त मुझे ऐसा नहीं लगता है कि मैं इंडिया के लिए खेल रहा हूं, बल्कि ऐसा लगता है कि जैसे मैं आज भी अंडर-14 या अंडर-16 के लिए खेल रहा हूं। ‘

बता दें कि युवराज सिंह लंबे समय से टीम से बाहर चल रहे हैं। पिछले दो सालों से उनके प्रदर्शन में काफी गिरावट भी आई है। ऐसे में युवराज पर एक तरफ जहां संन्यास का दबाव है, वहीं आगामी क्रिकेट वर्ल्ड कप में वापसी उनके लिए सबसे बड़ी चुनौती है।
वहीं, इस सीजन में दिल्ली की पहली जीत के हीरो ऋषभ पंत ने कहा, ‘क्रिकेट में मेरा अब तक का सफर शानदार रहा है। इस दौर में मैं हर दिन कुछ नया सीखने की कोशिश कर रहा हूं। जब-जब मैं अपने प्रदर्शन से टीम को जीत दिलाता हूं तब-तब मुझे बहुत खुशी होती है।’

वहीं, इस सीजन में दिल्ली की पहली जीत के हीरो ऋषभ पंत ने कहा, ‘क्रिकेट में मेरा अब तक का सफर शानदार रहा है। इस दौर में मैं हर दिन कुछ नया सीखने की कोशिश कर रहा हूं। जब-जब मैं अपने प्रदर्शन से टीम को जीत दिलाता हूं तब-तब मुझे बहुत खुशी होती है।’

पंत ने आगे कहा, ‘मैं परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए अपने बल्ले का इस्तेमाल करता हूं। मुंबई के खिलाफ मैच में भी मेरी कुछ ऐसी ही रणनीति थी। अपनी टीम के लिए बेहतर प्रदर्शन करना मेरे लिए गर्व की बातै है।’

वहीं, मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने हार के बाद कहा, ‘सीजन का पहला गेम किसी भी टीम के लिए बड़ी चुनौती होता है। हमारे स्क्वाड में काफी नए खिलाड़ी भी शामिल हुए हैं। दिल्ली के खिलाफ खेलते हुए हमने कई गलतियां की जिसका हर्जाना हमें हार के रूप में भुगतना पड़ा। पहले 10 ओवर हमारे पक्ष में थे, लेकिन जब पंत बल्लेबाजी करने आए तो दिल्ली का पलड़ा भारी होता चला गया और हम मैच हार गए।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

*